Big Breaking ! दिल्ली, हरियाणा से राजस्थान का रास्ता होगा आसान, रेपिड रेल ट्रांजिट सिस्टम को मिली अंतिम मंजूरी

नई दिल्ली | दिल्ली एनसीआर से सटे राज्यों में कनेक्टिविटी बढ़ाने का कार्य तेजी से चल रहा है, ताकि यात्रियों का सफर सरल होने के साथ रोजगार के अवसर बढ़े. जहां एक ओर सड़क मार्गो को दुरुस्त करने के लिए अनेको एक्सप्रेसवे का शिलान्यास किया जा रहा है. वही रेल मार्ग को भी आसान बनाने की योजनाए बनाई जा रही है. इसी के साथ अब दिल्ली और हरियाणा से राजस्थान के लिए रेपिड रेल ट्रांजिट सिस्टम को मंजूरी दे दी गई है. यह परियोजना दिल्ली, हरियाणा व राजस्थान के लिए किसी वरदान से कम नहीं है.

दिल्ली

बता दें हरियाणा के कई जिले राजस्थान के बार्डर से सटे हुए हैं, लेकिन वहां विकास की गति ठप्प पड़ी हुई हैं. जिसे देखते हुए केंद्र सरकार ने दिल्ली, हरियाणा व राजस्थान को एक सूत्र में पिरोने की योजना तैयार की है. दरअसल, दिल्ली, हरियाणा से राजस्थान जाने के लिए अभी रेल मार्ग इतना दुरुस्त नहीं है. जिसके चलते लोगो को परेशानियों का सामना करना पड़ता है. लेकिन अब रेपिड रेल आ जाने से ये सफर आसान हो जायेगा. वही इसके आ जाने से अनेको व्यापारियों को भी लाभ मिलेगा. आज व्यापारी को नौकरीपेशा लोग राजस्थान जाने के लिए सड़क मार्ग का प्रयोग करते है, और हर दिन दिल्ली और हरियाणा से लाखो लोग व्यापार और नौकरी के सिलसिले में एक राज्य से दूसरे राज्य में जाते है. वही रेपिड रेल के आ जाने से अब यही लोग आसानी से रेल यात्रा का आनंद उठाने के साथ अपने सफर को आसान बना पाएंगे.

ये होगा दिल्ली रेपिड रेल का रुट

दिल्ली-अलवर कॉरिडोर तीन राज्यों दिल्ली-हरियाणा और राजस्थान से गुजरेगा. इसका 83 किमी हिस्सा हरियाणा में आएगा. दिल्ली के हिस्से में 22 किमी और राजस्थान में 2 किमी ट्रैक का निर्माण किया जाएगा. इस प्रोजेक्ट के बन जाने पर दिल्ली-अलवर का सफर महज 70 मिनट में पूरा हो सकेगा. बताया जा रहा है इस 106 किलोमीटर के रूट पर 16 स्टेशन होंगे. जिसमे 35 किलोमीटर का रूट अंडरग्राऊंड होगा और इस रूट पर ही 5 स्टेशन बनाए जाएंगे. इसके बाद बाकि 71 किलोमीटर का रास्ता एलिवेटिड होगा. जिसमें 11 स्टेशन बनाये जायेंगे. ये स्टेशन सराय काले खां, जोरबाग, मुनरिका, एयरो-सिटी, उद्योग विहार, सेक्टर 17, राजीव चौक, खेड़की धौला, मानेसर, पंचगांव, बिलासपुर चौक, धारूहेडा, एमबीआईआर, रेवाड़ी, बाबल और एसएनबी होंगे. 7 स्टेशन (उद्योग विहार, सेक्टर 17, राजीव चौक, खेड़की धौला, मानेसर, पंचगांव, बिलासपुर चौक) गुरुग्राम में बनेंगे. ट्रेन 180 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से ट्रैक पर दौड़ेगी. और हर 5 से 10 मिनट पर उपलब्ध होगी.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा से जुडी ताज़ा खबरों के लिए अभी जाए Haryana News पर.