Ayushman Bharat Yojana: मोदी सरकार की इस योजना से हर महीने मिलेंगे 15 हजार, ऐसे उठाए लाभ

नई दिल्ली | मोदी सरकार की सबसे महत्वाकांक्षी आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Yojana) की देश ही नहीं बल्कि दुनिया भर में तारीफ होती है. इस योजना से गरीब लोगो को बेहतर उपचार में मदद मिल रही है. इस योजना के होने से साथ ही इससे लोगों को रोजगार भी मिल रहा है. केंद्रीय मोदी सरकार ने आयुष्मान योजना के तहत 5 साल में 10 लाख रोजगार पैदा करने का लक्ष्य रखा है.

PM Modi

1 लाख से ज्यादा आयुष्मान मित्र तैनात किए

योजना के तहत सरकारी और प्राइवेट हॉस्पिटल में 1 लाख से ज्यादा आयुष्मान मित्र तैनात किए गए हैं. आयुष्मान मित्रों को वेतन के साथ अन्य सुविधाएं दी जाती है. अगर आप भी सरकार की इस योजना से जुड़ना चाहते हैं तो आयुष्मान मित्र कार्ड बनवाकर हर महीने 15 हज़ार रुपए तक का फायदा उठा सकते हैं. आयुष्मान मित्र की भर्ती के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय और कौशल विकास मंत्रालय मिलकर दोनों काम करते हैं.

आयुष्मान मित्र का काम

आयुष्मान मित्र का काम विशेष कार्य योजना से जुड़ा हर फायदा लाभार्थी को पहुंचाना होता है. इन्हें सरकार की योजना से जुड़े अस्पतालों में इन्हें तैनात किया जाता है. किसी का आवेदन कराना और उसके आयुष्मान कार्ड (Ayushman Card) बनवाने की जिम्मेदारी आयुष्मान मित्र की होती है. इनका चयन 12 महीने के लिए कॉन्ट्रैक्ट के आधार पर किया जाता है. 12 महीने पूरे होने के बाद इसे आगे भी बढ़ा दिया जाता है.

ट्रेंडिंग-  LIC WhatsApp Services: बीमाधारकों के लिए खुशखबरी, व्हाट्सऐप पर मिलेगी पॉलिसी की डिटेल

सैलरी और इंसेंटिव

आयुष्मान मित्रों को हर महीने 15 हज़ार रुपए दिए जाते हैं. इसके अलावा, हर मरीज पर 50 रूपये का इंसेंटिव भी दिया जाता है. हर जिले पर आयुष्मान मित्र की भर्ती होती है. इनकी भर्ती की जिम्मेदारी भी जिला स्तरीय एजेंसी करती है. चयन के बाद प्रशिक्षण की जिम्मेदारी कौशल विकास योजना एवं उद्यमिता मंत्रालय की होती है और इसमें 12th पास कोई भी व्यक्ति आयुष्मान मित्र बन सकता है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा से जुडी ताज़ा खबरों के लिए अभी जाए Haryana News पर.