जानें बीजेपी से ज्यादा दुष्यंत चौटाला की कैसे मुश्किलें बढ़ाएगा कांग्रेस का अविश्वास प्रस्ताव

गुरुग्राम | हरियाणा की भाजपा सरकार (BJP Government) के लिए थोड़े समय पहले जाट आंदोलन सिर दर्द बना था तो अब इतने दिनो से कृषि कानूनों को लेकर चल रहा यह आंदोलन गले की फांस बना हुआ है. ऐसे में केंद्र सरकार द्वारा लागू किए गए कृषि कानून के खिलाफ हरियाणा में एक तरफ किसान आंदोलित हैं तो दूसरी तरफ कांग्रेस ने भी सरकार को घेरने के लिए हाल ही में मोर्चा खोल दिया है.

बीजेपी

किसान संगठन ने जेजेपी पर बीजेपी से अलग होने के लिए बनाया दबाव

1572173350 1773 1610435223

दरअसल, पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के नेतृत्व वाली बीजेपी- जेजेपी गठबंधन सरकार के खिलाफ विधान सभा सत्र के पहले दिन ही अविश्वास प्रस्ताव लाने का निर्णय ले लिया है. ऐसे में कांग्रेस के इस कड़े कदम से सीएम मनोहर लाल खट्टर से कहीं अधिक उनके सहयोगी डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला जी की चिंता और मुश्किलों में इजाफा हो सकता है, यहां हम आपको विशेष रूप से जानकारी दें दे कि हम ऐसा केवल इसलिए कह रहे हैं क्योंकि, किसान संगठन जेजेपी पर बीजेपी से अलग होने के लिए लगातार दबाव बना रही हैं.

Dushyant Chautala

कांग्रेस ने की बीजेपी व जेजेपी सरकार को घेरने की तैयारी

किसान व विपक्षी पार्टियां काफ़ी समय से लगातार एकजूट हो कर डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला पर दबाब बना रहे हैं कि वह जल्द से जल्द अपना समर्थन वापस ले लें. जिससे प्रदेश में भाजपा सरकार गिर जाए और फिर इसी दबाब की वजह से केंद्र सरकार हाल ही में लागू किए गए नए तीनों कृषि कानूनों को रद्द कर दे.

सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा की अध्यक्षता में हुई अहम बैठक का अंश 

यहां हम आपको मुख्य रूप से बता दें कि हरियाणा में मार्च माह की पांच तारीख़ से बजट सत्र शुरू होने वाला है, इसलिए कांग्रेस ने बीजेपी व जेजेपी सरकार को घेरने की पूरी तैयारी कर रखी है. ऐसे में विधान सभा में विपक्ष के नेता सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा की अध्यक्षता में हुई अहम बैठक में कांग्रेस ने फ़ैसला किया है कि यदि राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य के बजट अभिभाषण के बाद मनोहर लाल खट्टर सरकार के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव लाएगी. यहां हम आपको ख़ास तौर पर बता दें कि इससे पहले भी दो बार हुड्डा अपने विधायकों के साथ राज्यपाल से मिलने के लिए भी जा चुके हैं किन्तु, राज्यपाल ने दोनों ही बार इन्हें मिलने का समय नहीं दिया.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा में कोरोना से जुडी ताज़ा खबरों के लिए अभी जाए कोरोना केस हरियाणा ताज़ा खबर पर.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *