LIC पर आयकर विभाग का 75 हजार करोड़ रूपये का टैक्स बकाया, चुकाने से किया इंकार

नई दिल्‍ली | आईपीओ (IPO) लाने की तैयारियों में जुटी देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी LIC पर आयकर विभाग (Income tax department) का करीब 75 करोड़ रूपये टैक्स बकाया है. जिसको चुकाने से बीमा कंपनी इंकार कर रही है. LIC का कहना है कि वो टैक्स की देनदारियां चुकाने के लिए अपने फंड का इस्तेमाल नहीं करना चाहती है. क्योंकि कई मामलों में कोर्ट की ओर से आए फैसले सही नहीं हैं. वह इनके खिलाफ आगे भी अपील करेगी.

LIC

आईपीओ (IPO) के लिए बाजार नियामक सेबी (market regulator sebi) के पास पेश किए गए दस्तावेजों के मुताबिक, एलआईसी (LIC) पर प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष कर के 74,894.6 करोड़ रुपये के कुल 63 मामले चल रहे हैं. इनमें बीमा कंपनी पर प्रत्यक्ष कर के 37 मामलों में 72,762.3 करोड़ और 26 अप्रत्यक्ष कर मामलों में 2,132.3 करोड़ रुपये बकाया है, जिनकी वसूली होनी है. इस तरह, कंपनी पर आयकर विभाग का कुल 74,894.4 करोड़ रुपये का टैक्स बकाया निकल रहा है।

वही अब जानकारों का कहना है कि एलआईसी के केस हारने पर उसे टैक्स का भुगतान करना होगा. इसके साथ ही कंपनी मार्च, 2022 में शेयर बाजार में सूचीबद्ध होने की तैयारी में है. वह करीब 75,000 करोड़ रुपये का आईपीओ लेकर आ रही है. वही केस हारने का असर निवेशकों पर देखने को मिलेगा. और बाजार में चल रही हिस्सेदारी भी घटकर नीचे आ सकती है. इसके अलावा कंपनी के शेयरधारकों को मिलने वाले रिटर्न में भी कमी आ सकती है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा से जुडी ताज़ा खबरों के लिए अभी जाए Haryana News पर.