SBI के ग्राहक तुरंत रहें सतर्क, बैंक ने जारी किया अलर्ट, जानिए क्या है वजह

नई दिल्ली। देश के सबसे बड़े बैंक SBI ने अपने ग्राहकों को अनाधिकृत लेनदेन की तुरंत रिपोर्ट करने की चेतावनी दी है. इसमें देरी से काफी नुकसान हो सकता है. देश में हाल के दिनों में क्राइम और डिजिटल फ्रॉड के मामले बढ़ते जा रहे हैं. फ़िशिंग और रैंसमवेयर हमलों से लेकर पहचान की चोरी तक ऐसे कई तरीके हैं. जिनसे साइबर अपराधी इंटरनेट उपयोगकर्ताओं को लक्षित कर सकते हैं.

sbi bank

SBI (भारतीय स्टेट बैंक) ने अपने ग्राहकों को अलर्ट जारी करते हुए कहा है कि इस तरह के साइबर खतरों से खुद को बचाना बहुत जरूरी है. खासकर डिजिटल पेमेंट प्लेटफॉर्म और ऑनलाइन बैंकिंग सेवाओं का उपयोग करते समय. देश के सबसे बड़े ऋणदाता ने इस बात पर जोर दिया है कि ग्राहकों को अनाधिकृत लेनदेन की तुरंत सूचना देनी चाहिए ताकि उन्हें समय पर हल किया जा सके.

SBI ने क्या कहा?

एसबीआई ने हाल ही में एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा कि यदि आपके खाते में कोई अनधिकृत लेनदेन होता है. तो तुरंत टोल-फ्री नंबर 18001-2-3-4 पर कॉल करें. ताकि समय पर उचित कार्रवाई की जा सके। पिछले महीने, एसबीआई के अध्यक्ष दिनेश कुमार खारा ने जोर देकर कहा कि ग्राहक किसी भी अनधिकृत लेनदेन की सूचना जल्द से जल्द बैंक को दें. बैंक ने कहा कि एसबीआई खाते से जुड़े किसी भी वित्तीय धोखाधड़ी के मामले में, ग्राहक को जल्द से जल्द बैंक को सूचित करना चाहिए. क्योंकि बैंक को सूचित करने में जितना अधिक समय लगता है. ग्राहक को नुकसान का जोखिम उतना ही अधिक होता है.

ट्रेंडिंग-  Indian Navy Day 2022: भारतीय नौसेना का इतिहास, जानिए क्यों और कैसे हुई नौसेना दिवस की शुरुआत

साइबर फ्रॉड करने वाले ग्राहकों से रहें सावधान

SBI ने ग्राहकों को साइबर फ्रॉड से सावधान रहने की सलाह दी है. उन्होंने कहा कि ऐसे मुद्दों से निपटने के लिए ग्राहक सेवा को सर्वोच्च प्राथमिकता दी जाएगी. एसबीआई के मुताबिक टोल फ्री नंबर डायल करने के अलावा ग्राहक इंटरनेट बैंकिंग, एटीएम, मोबाइल बैंकिंग और भीम एसबीआई पे सेवाओं से जुड़ी अपनी शिकायतें भी दर्ज करा सकते हैं.

ट्रेंडिंग-  LIC WhatsApp Services: बीमाधारकों के लिए खुशखबरी, व्हाट्सऐप पर मिलेगी पॉलिसी की डिटेल

कॉलों को तुरंत संसाधित किया जाएगा

जैसे ही बैंक को अनाधिकृत लेनदेन की शिकायत प्राप्त होती है, वह फर्जी लेनदेन को रोकने के लिए तत्काल और पर्याप्त कदम उठाएगा. जिस चैनल के माध्यम से अनधिकृत लेनदेन होता है. उसे ग्राहक की शिकायत मिलने पर तुरंत ब्लॉक कर दिया जाएगा. शिकायत मिलने के बाद, एसबीआई ग्राहक को पंजीकृत शिकायत संख्या और अन्य विवरण बताते हुए एक एसएमएस या ईमेल भी भेजता है. ग्राहक से प्राप्त शिकायत का 90 दिनों के भीतर समाधान किया जाता है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा से जुडी ताज़ा खबरों के लिए अभी जाए Haryana News पर.