New Parking Rules: नितिन गडकरी का बड़ा एलान, NO पार्किंग में खड़ी गाड़ी की फोटो खींचने पर मिलेगा 500 रूपये इनाम

नई दिल्ली, New Parking Rules | केंद्रीय परिवहन मंत्री एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने एक अवैध पार्किंग (Unauthorised Parking) वाली गाड़ियों को लेकर एक बड़ा एलान कर दिया है. नितिन गडकरी ने इस बात की जानकारी देते हुए बताया कि सरकार बहुत जल्द एक ऐसा नियम लेकर आने वाली है जिसके तहत गलत तरिके से पार्क हुई गाड़ियों की फोटो खींचकर भेजने वाले को 500 रूपये दिए जायेंगे. इसके साथ ही गाड़ी वाले को 1000 रुपये जुर्माने के देने होंगे.

transport minister

1000 रूपये लगेगा जुर्माना

बता दें नितिन गडकरी ने एक कार्यक्रम के दौरान इस बात की घोषणा की है. परिवहन मंत्री के इस एलान के बाद सभी कार, बाइक, ऑटो समेत अन्य वाहन चालक हैरान रह गए है. नितिन गडकरी ने बताया सरकार बहुत जल्द ऐसा कानून लेकर आएगी. जिसमे अवैध पार्किंग में खड़ी गाड़ी की यदि कोई व्यक्ति फोटो खींचकर भेजता है तो उसे 500 रूपये दिए जायेंगे. वही गाड़ी मालिक से 1000 रूपये फाइन देना होगा. केंद्र सरकार की ओर से इस तरह का कानून आने के बाद सड़क पर ट्रैफिक जाम और हादसों में कमी आएंगी.

नितिन गडकरी ने जताई नाराजगी

केंद्रीय मंत्री ने एक कार्यक्रम के दौरान लोगो पर नाराजगी जताते हुए कहा गलत पार्किंग एक बहुत बड़ा खतरा है. लोग घर बना लेते है लेकिन पार्किंग के लिए जगह नहीं बनाते है और वो अपनी गाड़ियां सडको पर खड़ी कर देते है. गडकरी ने चुटकी लेते हुए कहा, ‘नागपुर में मेरे रसोइये के पास दो सेकंड हैंड वाहन हैं. आज चार सदस्यों के परिवार के पास छह कारें होती हैं. इसके बावजूद भी वो पार्किंग नहीं बनाते है. उदाहरण के लिए, दिल्ली में चौड़ी सड़कों को पार्किंग की जगह माना जा रहा है. ऐसा लगता है कि दिल्ली के लोग भाग्यशाली हैं. हमने उनका वाहन खड़ा करने के लिए सड़क बनाई है.’

ट्रेंडिंग-  रेलवे का बड़ा फैसला: देश में सितंबर से दौड़ेगी 23 नई ट्रेनें, इन यात्रियों को मिलेगा फायदा

भारत में बनेंगे अमेरिका जैसे हालात

वही नितिन गडकरी ने कहा ऐसा देश में बढ़ते वाहनों के चलते हो रहा है, आज हर आदमी के पास अपना वाहन है. जहां अमेरिका में सफाईकर्मी के पास तक कार है. ऐसी ही स्थिति कुछ समय में भारत में आने वाली है. इस साल मई में यात्री वाहनों, दोपहिया और तिपहिया वाहनों की कुल बिक्री बढ़कर 15 लाख से अधिक हो गई,जो कि पिछले साल 5 लाख से भी कम थी.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा से जुडी ताज़ा खबरों के लिए अभी जाए Haryana News पर.