जानें क्या हैं ‘अग्निपथ भर्ती योजना’, भारतीय सेना में अब नए नियम से होगी भर्ती

नई दिल्ली | आज रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह द्वारा ‘अग्निपथ भर्ती योजना’ (Agneepath Bharti Yojana) की लॉन्चिंग की गई. जिसके तहत अब भारतीय सेना में भर्ती के लिए नए नियम लागू होंगे. आज केंद्र सरकार की ओर से इस योजना की शुरुआत हो चुकी है. रक्षा मंत्री ने अग्निपथ भर्ती योजना को लांच करते हुए सुधार की योजना बताया. इस योजना से युवाओं को तमाम फायदे मिलने वाले है. आइये जान लेते है इस योजना की पूरी जानकारी.

Indian Army

इस योजना से युवाओ को मिलेंगे लाभ

केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने  ‘अग्निपथ भर्ती योजना’ को लांच करते हुए इसके फायदों के बारे में बताया. उन्होंने कहा – इस योजना से रक्षा बलों के खर्च और आयु प्रोफ़ाइल में कमी आएगी. साथ ही इसके जरिये कैबिनेट कमेटी ने भारतीय सेनाओं को ज्यादा युवा और नई तकनीकों में माहिर बनाने के चलते मंजूरी दी है. अब से भारतीय सेना के सभी सिपाही पदों पर अग्निपथ योजना के तहत भर्ती होंगी. जो सैनिक इस योजना के जरिये भर्ती होंगे वो अग्निवीर सैनिक कहे जायेंगे. साथ ही इन युवाओ को सेना में चार साल काम करने का मौका मिलेगा. इनमे से 25 प्रतिशत को चार से अधिक काम का अवसर भी दिया जायेगा. चार साल के बाद इनको एक मुश्त राशि, तकनीकी योग्यता का सर्टिफिकेट मिलेगा जो इन्हें कॉरपोरेट जगत में नई नौकरी में मदद करेगा.

सैलरी में होगा इजाफा

जानकारी के लिए बता दें इस योजना के तहत पहली भर्ती की घोषणा 90 दिनों के अंदर की जाएगी. कोरोना के चलते पिछले दो सालों से सेना में भर्ती प्रक्रिया रुकी हुई है. इससे पहले सैनिकों को 9 महीने की ट्रेनिंग दी जाती थी, जबकि अब यह 6 महीने कर दी गई है. इसके अलावा रिटायरमेंट की उम्र में भी बदलाव किया गया है. भारतीय सेना में पहले रिटायरमेंट की उम्र करीब 40 साल थी. जबकि अब नए नियमो के मुताबिक केवल चार सालों के लिए भर्ती की जाएगी. इसके साथ सैलरी स्ट्रक्चर में फायदा दिया गया है. पहले सेना में भर्ती सैनिको का वेतन कम होता था, वही अब नए नियमो के आ जाने से करीब 30 हजार रुपये सैलरी मिलेगी.

ट्रेंडिंग-  7th Pay Commission: 18 महीने से अटके DA एरियर पर आया बड़ा अपडेट, जानें कितनी आएगी सैलरी

रिटायरमेंट के समय मिलेगी इतनी धनराशि

नए नियम के अनुसार युवाओं की भर्ती अब अखिल भारतीय स्तर पर की जाएगी. पहले रिटायरमेंट के बाद पेंशन मिलती थी, लेकिन अब नए नियम के अनुसार रिटायरमेंट के बाद पेंशन की व्यवस्था नहीं होगी. लेकिन इससे अच्छी बात है इन युवा नौकरी के दौरान ही कोर्स कर सकेंगे. चार साल का समय पूरा होने तक करीब 75 प्रतिशत जवानों का रिटायरमेंट 10-12 लाख रुपये की धनराशि देकर कर दिया जायेगा. जबकि अन्य 25 प्रतिशत को सैनिकों को आगे लंबे समय के लिए रखा जायेगा.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा से जुडी ताज़ा खबरों के लिए अभी जाए Haryana News पर.