Indian Navy Day 2022: भारतीय नौसेना का इतिहास, जानिए क्यों और कैसे हुई नौसेना दिवस की शुरुआत

नई दिल्ली, Indian Navy Day 2022 | भारत की थल, वायु और नौसेना तीनों सेनाएं देश की रक्षा के लिए हर तरफ से मुस्तैद हैं. आज भारतीय सेना का नाम दुनिया की सबसे शक्तिशाली ताकतों में से एक है. इतिहास के पन्नों को पलटते हुए जब भी दुश्मन देश ने भारत पर हमला करने की सोची तो उसने जमीन से ही हमला कर दिया. इसकी एक वजह देश की जल सीमा की कड़ी सुरक्षा भी हो सकती है. भारतीय नौसेना के जिन जवानों को हम जल प्रहरी कह सकते हैं, वह जल मार्ग की सुरक्षा में मुस्तैद रहे. दुश्मन समझ गया कि इस रास्ते से हमला संभव नहीं है. भारतीय नौसेना की इसी उपलब्धि और साहस के कारण देशवासी उन्हें सलाम करने के लिए इस दिन को भारतीय नौसेना दिवस के रूप में मनाते हैं. भारतीय नौसेना दिवस के मौके पर जानिए इस दिन का इतिहास और महत्व.

ट्रेंडिंग-  BSNL का धमाकेदार प्लान: सालभर की वैलिडिटी, डेली 2GB डेटा; कीमत Jio से भी आधी

Indian Navy

भारतीय नौसेना दिवस कब मनाया जाता है?

भारतीय नौसेना दिवस हर साल मनाया जाता है 4 दिसंबर को मनाया जाता है. भारतीय नौसेना इस दिन बलों का सम्मान करने और उनके योगदान की सराहना करने के लिए मनाती है. नौसेना दिवस मनाने के लिए हर साल एक अलग थीम तय की जाती है.

नौसेना दिवस मनाने की शुरुआत कब हुई?

भारतीय नौसेना दिवस का उत्सव मई 1972 में आयोजित एक वरिष्ठ नौसेना अधिकारियों के सम्मेलन से शुरू होता है, जब 4 दिसंबर को भारतीय नौसेना दिवस मनाने का निर्णय लिया गया था.

ट्रेंडिंग-  BSNL का धमाकेदार प्लान: सालभर की वैलिडिटी, डेली 2GB डेटा; कीमत Jio से भी आधी

4 दिसंबर को नौसेना दिवस क्यों मनाया जाता है?

1971 में भारत और पाकिस्तान के बीच युद्ध हुआ था. इस जंग में पाकिस्तान ने 3 दिसंबर को भारतीय एयरपोर्ट पर हमला कर दिया. पाकिस्तानी सेना के हमले का जवाब देते हुए भारतीय नौसेना ने 4 और 5 दिसंबर की रात हमले की योजना बनाते हुए सैकड़ों पाकिस्तानी नौसैनिकों को मार गिराया. इस मिशन में भारतीय नौसेना का नेतृत्व कमोडोर कासरगोड पट्टनशेट्टी गोपाल राव ने किया था. नौसेना की उपलब्धियों और प्रयासों को स्वीकार करने के लिए 4 दिसंबर को नौसेना दिवस मनाया जाता है.

ट्रेंडिंग-  BSNL का धमाकेदार प्लान: सालभर की वैलिडिटी, डेली 2GB डेटा; कीमत Jio से भी आधी

भारतीय नौसेना की स्थापना कब हुई थी?

भारतीय नौसेना 1612 में अस्तित्व में आई जब ईस्ट इंडिया कंपनी ने रॉयल इंडियन नेवी नाम से एक नौसेना का गठन किया. ईस्ट इंडिया कंपनी ने व्यापारी जहाजों की सुरक्षा के उद्देश्य से एक नौसैनिक बल का गठन किया. स्वतंत्रता के बाद, इसे 1950 में भारतीय नौसेना के रूप में पुनर्गठित किया गया था.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा से जुडी ताज़ा खबरों के लिए अभी जाए Haryana News पर.