किसानों को दीवाली का तोहफा: केंद्र ने 6 रबी फसलों के MSP में की बढ़ोतरी, देखे नए MSP रेट

नई दिल्ली | केंद्रीय मंत्रिमंडल ने किसानों को दिवाली का तोहफा देते हुए 6 रबी फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) बढ़ाने को अपनी मंजूरी दे दी है. केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने कैबिनेट बैठक के बाद प्रेस कांफ्रेंस करते हुए कहा कि सरकार ने गेहूं के एमएसपी में 110 रुपये प्रति क्विंटल की बढ़ोतरी की है. जिन फसलों का एमएसपी बढ़ाया गया है इनमें गेहूं के अलावा जौ, चना, दालें, सूरजमुखी और सरसों शामिल हैं. इसे किसानों की आय और फसलों के उत्पादन में वृद्धि के रूप में देखा जा रहा है.

ट्रेंडिंग-  Indian Navy Day 2022: भारतीय नौसेना का इतिहास, जानिए क्यों और कैसे हुई नौसेना दिवस की शुरुआत

Kisan Fasal

रबी सीजन 2023-24 के लिए गेहूं का एमएसपी 110 रुपये प्रति क्विंटल बढ़ाकर 2125 रुपये प्रति क्विंटल कर दिया गया है. इसी तरह जौ का न्यूनतम समर्थन मूल्य 100 रुपये प्रति क्विंटल बढ़कर 1735 रुपये प्रति क्विंटल हो गया है. सरकार ने चने के एमएसपी में 105 रुपये, जबकि मसूर के 500 रुपये, सरसों के 400 रुपये और सूरजमुखी के एमएसपी में 209 रुपये प्रति क्विंटल की बढ़ोतरी की है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति (सीसीईए) की बैठक में न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) बढ़ाने का निर्णय लिया गया. एमएसपी वह दर है जिस पर सरकार किसानों से अनाज खरीदती है.वर्तमान में सरकार खरीफ और रबी दोनों मौसम में उगाई जाने वाली 23 फसलों के लिए एमएसपी तय करती है.

ट्रेंडिंग-  आज से बदल गए ये 4 नियम, बैंकिंग नियमों से लेकर से LPG कीमत; CNG-PNG की कीमत में बदलाव

खरीफ (गर्मी) फसलों की कटाई के तुरंत बाद अक्टूबर में रबी (सर्दियों) फसलों की बुवाई शुरू हो जाती है. गेहूं और सरसों रबी की प्रमुख फसलें हैं. एक आधिकारिक विज्ञापन के अनुसार सीसीईए ने 2022-23 फसल वर्ष जून-जुलाई और 2023-24 विपणन सत्र के लिए छह रबी फसलों के लिए एमएसपी में वृद्धि को मंजूरी दी है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा से जुडी ताज़ा खबरों के लिए अभी जाए Haryana News पर.