LIC पॉलिसी होल्डर्स जल्दी कर ले अपने बैंक अकाउंट डिटेल्स को अपडेट, जानें क्या है इसकी वजह

नई दिल्ली | देश की सबसे बड़ी इंश्योरेंस कंपनी LIC ने हाल में अपने आईपीओ (IPO) का ड्राफ्ट पेपर (LIC IPO DRHP) सेबी (SEBI) के पास जमा किया है. ऐसे में IPO के ड्राफ्ट पेपर में इंश्योरेंस कंपनी ने जानकारी देते हुए बताया है कि वर्ष 2021में सितंबर माह की 30 तारीख तक उसके पास कुल 21,539.5 करोड़ रुपये की Unclaimed रकम थी. बता दें कि यह रकम कई मंत्रालयों के बजट और कई कंपनियों के बाजार पूंजीकरण से अधिक है. जानकारी के आधार पर कहा जा सकता है कि LIC अब अपने पॉलिसीहोल्डर्स से आसान क्लेम प्रोसेस के लिए बैंक अकाउंट डिटेल्स अपडेट कराने को कह रही है.

LIC

यह बात है बेहद ख़ास और जरुरी

यदि आपके पास LIC की कोई पॉलिसी है तो उस स्थिति में आप इस बात से जरूर अवगत ही होंगे कि आपकी पॉलिसी के क्लेम सेटलमेंट का पैसा सीधा आपके बैंक अकाउंट में क्रेडिट हो जाता है. ऐसे में पॉलिसी होल्डर्स को यह सुनिश्चित करना होगा कि वे इंश्योरेंस कंपनी को सही बैंक डिटेल्स दें रहे हैं या फिर नहीं. इससे LIC को NEFT की सहायता से क्लेम सेटलमेंट की राशि आपके खाते में भेजने में किसी भी प्रकार से कठिनाई का सामना नहीं करना पड़ेगा और बिल्कुल आसानी से यह पैसा आपके बैंक में ट्रांसफर हो जाएगा.

LIC ने अपने लेटेस्ट विज्ञापन में कही यह ज़रूरी बात

थोड़े समय पहले यानी अभी हाल ही में इंश्योरेंस कंपनी ने एक लेटेस्ट विज्ञापन में कहा है कि पॉलिसी होल्डर्स जल्द से जल्द अपने बैंक अकाउंट डिटेल्स को अपडेट कर लें ताकि क्लेम प्रोसेस में किसी भी तरह की दिक्कत ना आए और परेशानी का सामना न करना पड़े.

LIC ने विज्ञापन में दिया यह विवरण 

LIC ने हाल ही जारी किए गए विज्ञापन में बताया है कि पॉलिसी होल्डर्स कृपया ध्यान दें और हमें समय पर क्लेम सेटल करने में मदद कीजिए. कृपया मेच्योरिटी डेट या सर्वाइवल बेनिफिट के लिए अपना पॉलिसी डॉक्युमेंट को अच्छे से देखिए. इसके बाद डिटेल्स के साथ किसी भी ब्रांच से संपर्क कीजिए. अपना बैंक अकाउंट (एनईएफटी) डिटेल्स उपलब्ध कराइए. NEFT Mandate Form हर ऑफिस में अवेलेबल है. यहां पर हम आपको मुख्य रूप से जानकारी दें दे कि LIC की वेबसाइट www.licindia.in से भी इसे आसानी से डाउनलोड किया जा सकता है.

बैंकों के पास भी हैं Unclaimed Amount

इसी दौरान बता दें कि LIC के साथ-साथ बैंकों के पास भी कुल 24,356 करोड़ रुपये का Unclaimed Amount है. इसके साथ ही स्टॉक मार्केट में निवेश से जुड़े करोड़ों रुपये हैं, जिनका कोई दावेदार नहीं है.

इसी दौरान इंश्योरेंस कंपनी ने बताया है कि NEFT डिटेल्स को ऑनलाइन भी सबमिट किया जा सकता है. इसके साथ क्लेम डिस्चार्ज फॉर्म और पॉलिसी डॉक्युमेंट सबमिट करना है. इसी दौरान बता दें कि इसके साथ ही केवाईसी सबमिट करना है और अपना आवासीय पता, फोन नंबर/ मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी इत्यादि भी अपडेट कर सकते हैं.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा से जुडी ताज़ा खबरों के लिए अभी जाए Haryana News पर.