सरपंचों के पद छोड़ने के आदेश को हाई कोर्ट में चुनौती, जानें कब होगी सुनवाई

पंचकुला | वर्तमान स्थिति पर नज़र डालें तो इस समय हरियाणा में होने वाले पंचायत चुनावों में काफ़ी देरी हो रही है. वहीं दूसरी ओर अगर बात करें मौजुदा पंचायतों की तो इनका कार्य काल फरवरी माह की 23 तारीख़ को समाप्त हो रहा है. ऐसे में सरकार ने बीते दिनों 12 फरवरी को आदेश जारी कर सरपंचों को पदमुक्त करने का निर्णय लिया था. जिस फैसले को अब हाल ही में सरपंचों ने हाई कोर्ट में चुनौती दे दी है.

सरपंचों

सरपंचों ने हाई कोर्ट में दाखिल की याचिका

सरपंचों की तरफ से दाखिल की गई याचिका पर हाई कोर्ट दो दिन बाद यानी सोमवार को सुनवाई कर सकता है. ऐसे में याचिका दाखिल करते हुए सरपंच सोमेश व उनके साथ जुड़े अन्य लोगों ने हाई कोर्ट में अपना पक्ष रखते हुए स्पष्ट रूप से कहा है कि प्रावधान के मुताबिक़ पंचायत चुनाव की घोषणा के पश्चात ही सरपंच अपना पद छोड़ते हैं. साथ ही साथ में यह भी कहा गया है कि प्रदेश में अभी तक वार्ड बंदी का काम भी पूरा नहीं हो पाया है और ऐसे में सरकार उन्हें पद को छोड़ने के लिए कह रही है.

19 10 2020 panchayatchun 20908539

चुनाव की तिथि निश्चित नहीं, सरपंच कैसे छोड़ दें अपना पद  

इस मामले का विस्तार पूर्वक वर्णन करते हुए कहा गया कि सरपंचों से पंचायत के लोगों को काफ़ी काम होते हैं और अगर ऐसे में सरपंच पद छोड़ देंगे तो फ़िर लोगों को छोटे छोटे काम के लिए बीडीओ के पास चक्कर लगाने पड़ेंगे और वहीं दूसरी तरफ अगर हम इस मामले पर प्रकाश डालते हैं तो यह कहना ग़लत नहीं होगा कि एक बीडीओ के अधीन सैकड़ों गांव होते हैं तो, ऐसे में उनके लिए भी संभव नहीं होगा कि वह सभी लोगों की समस्याओं का समाधान समय पर कर सकें. इस समय चुनाव की तिथि निश्चित नहीं है तो फ़िर कैसे गांव के विकास को अनिश्चितकाल के लिए विराम दिया जा सकता है.

high court front full full

गांव के विकास से ही होगा देश का विकास

उदाहरण के तौर पर याची ने कहा है कि जिस प्रकार विधान सभा और संसद भंग होने के बाद भी मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री अपने पद पर रहते हैं उसी प्रकार से ही सरपंचों को भी अधिकार दिया जाना चाहिए. दरअसल, गांव के विकास में ही देश का विकास होता है और अगर ऐसे में गांव का विकास ही रुक जाएगा तो फिर देश का विकास भी वहीं थम जाएगा.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा में कोरोना से जुडी ताज़ा खबरों के लिए अभी जाए कोरोना केस हरियाणा ताज़ा खबर पर.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *