Big News: निजी क्षेत्र की नौकरियों में आरक्षण पर पुनर्विचार करे हरियाणा सरकार

पंचकुला | भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) ने हरियाणा सरकार से निजी क्षेत्र की नौकरियों में स्थानीय लोगों को आरक्षण देने के कानून पर एक फिर से विचार करने यानी पुनर्विचार करने के लिए हाल ही में निवेदन किया है. ऐसे में सीआईआई का कहना है कि आरक्षण से उत्पादकता और प्रतिस्पर्धी क्षमता प्रभावित होती है. यही तर्क सामने रखते हुए कहा गया है कि इस निर्णय पर एक बार फिर से विचार किया जाना चाहिए.

04 manohar lal khattar4

दोबारा किया जाना चाहिए आरक्षण विधेयक पर विचार

Manohar Lal Khattar

उद्योग संगठन ने कहा है कि उसे उम्मीद है कि राज्य सरकार की तरफ से इस मामले पर एक बार फिर से विचार विमर्श जरूर किया जाएगा.

photo

सीआईआई के महानिदेशक चंद्रजीत बनर्जी जी ने इस मामले पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए स्पष्ट रूप से कहा है कि ऐसे समय जबकि राज्यस्तर पर निवेश आकर्षित करना महत्वपूर्ण है, हरियाणा सरकार को उद्योग पर अंकुश लगाने से बचना चाहिए था.

Private sector reservations

हरियाणा के मुख्य्मंत्री ने की थीं आरक्षण की घोषणा

आरक्षण

साथ ही साथ में उन्होंने कहा है कि आरक्षण से उत्पादकता और उद्योग की प्रतिस्पर्धी क्षमता प्रभावित होती है. कहा जा रहा है कि हमें उम्मीद है कि हरियाणा सरकार इस मामले को लेकर एक बार फिर से गंभीर रूप से विचार विमर्श जरूर करेगी. यहां पर हम आपको विशेष रूप से जानकारी दें दे कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने बीते दिनों मंगलवार को कहा था कि हरियाणा के राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य ने इस विधेयक को मंजूरी दे दी है और अगर विस्तार पूर्वक वर्णन किया जाए तो इसमें निजी क्षेत्र की 75 फ़ीसदी नौकरियां स्थानीय लोगों के लिए आरक्षित रखने का प्रावधान है.

बीते दिनों हमारे द्वारा सांझा की गई इस खबर की सहायता से आप अधिक जानकारी हासिल कर सकते हैं. यहां हम आपके साथ लिंक सांझा कर रहे हैं. https://www.haryananews.co/haryana/reservation-in-private-jobs

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा में कोरोना से जुडी ताज़ा खबरों के लिए अभी जाए कोरोना केस हरियाणा ताज़ा खबर पर.

One thought on “Big News: निजी क्षेत्र की नौकरियों में आरक्षण पर पुनर्विचार करे हरियाणा सरकार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *