PPF vs NPS investment: रिटायरमेंट के लिहाज से PPF बेहतर या NPS? आसान भाषा में समझें गणित

नई दिल्‍ली, PPF vs NPS investment | रिटायरमेंट के बाद भी बेहतर और आरामदायक जिंदगी जीने के लिए लोग पब्लिक प्रॉविडेंट फंड (Public Provident Fund-PPF) और नेशनल पेंशन सिस्‍टम (National Pension System-NPS) में निवेश करने में लगे रहते हैं. रिटायरमेंट फंड बनाने के लिए यह दोनों ही तरीके बेहद शानदार हैं परन्तु, इन दोनों में ही थोड़ा थोड़ा फ़र्क है, जिन्‍हें निवेश करने से पहले संपूर्ण रूप में जानकारी हासिल करना बेहद आवश्यक है. ताकि निवेश के लिए पीपीएफ (PPF) और एनपीएस (NPS) में से किसी एक का चुनाव करने में किसी भी तरह से परेशानी का सामना न करना पड़े.

PPF vs NPS investment

PPF vs NPS investment

PPF और NPS में मूलभूत फर्क 

पीपीएफ में निवेश करने का चलन बेहद पुराना है और इसमें कोई भी व्‍यक्ति इन्‍वेस्‍टमेंट कर सकता है. इसी दौरान हम आपको बता दें कि सरकार की ओर से पेंशन सोसायटी को डेवलप करने के मकसद से नेशनल पेंशन स्कीम (NPS) लाई गई है. NPS अकाउंट में शेयर बाजार की हिस्सेदारी ज्यादा होती है. शेयर बाजार (Share Market) से जुड़ा होने की वजह से एनपीएस में अधिक रिटर्न मिलने की संभावना रहती है. वही दुसरी तरफ बात करे पीपीएफ तो इसमें सरकार की तरफ़ से एक निश्चित ब्याज दिया जाता है लेकिन इसमें निवेश पूरी तरह से सुरक्षित रहता है.

ऐसे समझें PPF का गणित 

यहां पर हम आपको मुख्य रूप से जानकारी दें दे कि PPF में अगर कोई भी व्यक्ति एक साल तक 1.5 लाख रुपये या फिर 12,500 रुपये प्रति माह जमा करता है तो उसके मुताबिक़ निवेश की अवधि के दौरान उसे कुल 7.1 प्रतिशत का ब्याज मिलता है. ऐसे में पीपीएफ कैल्कुलेटर के अनुसार 30 साल के बाद निवेशक को मैच्योरिटी अमाउंट 1,54,50,911 रुपये यानी कि लगभग डेढ़ करोड़ रूपए दिए जाते हैं.

NPS में रहेगा ऐसा मामला 

वहीं दूसरी ओर जब हम बात करते है NPS तो यदि एनपीएस के अन्तर्गत कोई व्यक्ति NPS की स्कीम में 1.5 लाख रुपये सालाना या फिर 12,500 रुपये महीने जमा करता है और एन्युटी को 40 प्रतिशत रखा जाता है. तब एनपीएस कैल्कुलेटर के मुताबिक व्यक्ति रिटायरमेंट के बाद कुल 1,70,94,940 रुपये अपने खाते से निकाल सकता है. साथ ही साथ हम आपको बता दें कि शेष 1,13,96,627 रुपये का उपयोग एन्‍युटी खरीदने में कर सकता है. इससे उसे लगभग हर महीने 56,983 रुपये की पेंशन मिलती रहेगी.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा से जुडी ताज़ा खबरों के लिए अभी जाए Haryana News पर.