हरियाणा में इंटरनेट सेवा बंद करने को लेकर हाईकोर्ट में याचिका दर्ज, जाने पूरा मामला

चंडीगढ़ | हरियाणा सरकार द्वारा राज्य में इंटरनेट सेवाए बार- बार बाधित किए जाने के खिलाफ पंजाब- हरियाणा हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया है. संदीप सिंह व अन्य ने याचिका दायर कर कहा है कि 26 जनवरी को केंद्र सरकार ने सिंघू बार्डर, गाजीपुर, टीकरी, मुकरबा चौक और नांगलोई के आसपास इंटरनेट सेवाओं को रोक दिया है. इसी के तहत हरियाणा सरकार ने 29 जनवरी को एक आदेश के तहत राज्य के 17 जिलों में मोबाइल इंटरनेट सेवाओ पर रोक लगा दी है, जो अलग- अलग आदेश के तहत अब तक जारी है.

Punjab and Haryana High Court

याचिका में आरोप लगाया गया है कि सरकार की इस तरह की कार्रवाई मौलिक अधिकारों के खिलाफ है. सरकार की इस कार्रवाई के कारण आम लोगों को निजी और व्यापारिक तौर पर कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है. याचिका में कहा गया है कि कोरोना के चलते बच्चों की पढ़ाई और अन्य कार्यालय के काम घर से चल रहे हैं लेकिन, इंटरनेट सेवाओं के निलंबन के चलते सभी को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

याचिका में हाईकोर्ट से मांग की गई है कि सरकार को निर्देश दिया जाए कि वह इस तरह के आदेश जारी न करे और अगर किसी कारणवश सेवा बाधित हो तो आम जनता को 7 दिन पूर्व नोटिस जारी किया जाए. फिलहाल यह याचिका हाईकोर्ट रजिस्ट्री में दाखिल हुई है, जिस पर जल्द ही सुनवाई हो सकती है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा में कोरोना से जुडी ताज़ा खबरों के लिए अभी जाए कोरोना केस हरियाणा ताज़ा खबर पर.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *