वैक्सीन की अजब कहानीः गुड़गांव में मिल नहीं रही, नूंह में ऐसी अफवाह कि कोई लगा नहीं रहा

नई दिल्ली | वैक्सीन की कमी वर्तमान समय में ज्यादातर राज्यों में देखने को मिल रही है. ऐसे में कहा जा रहा है कि इस वक्त यही इसकी ख़ास वजह है जो वैक्सीनेशन की रफ्तार काफी स्लो है. वही दूसरी तरफ कई सेंटर पर वैक्सीन जाने के बाद भी वैक्सीन नहीं लग पा रही है. कुछ जिले ऐसे भी हैं जहां पर वैक्सीन होते हुए भी वैक्सीनेशन की रफ्तार स्लो है. कहा जा रहा है कि हरियाणा के नूंह जिले की भी ऐसी ही कहानी है.

वैक्सीन

वैक्सीन लगवाने में पिछड़ गया नूंह

गुरुग्राम और नूंह में एक ही दिन टीकारण की शुरुआत की गई है. ऐसे में 16 जनवरी से 31 मई के बीच गुरुग्राम में लगभग 6 लाख 75 हजार लोगों को वैक्सीन लगी. रोजाना औसत देखा जाए तो संख्या 5 हजार के लगभग है. वहीं नूंह में इतने ही समय में सिर्फ कुल 75 हजार लोगों को ही वैक्सीन लगी है.

गुरुग्राम में मई महीने में ही वैक्सीन के कई सेंटर वैक्सीन न होने से बंद हो गए है . नूंह में वैक्सीन को लेकर जागरुकता की कमी है. नूंह में 100 केंद्रो पर वैक्सीन लगाने की शुरुआत हुई, जिसमें कई केंद्र बंद हो गए हैं.

जिले में जागरुकता को लेकर कई प्रोग्राम चलाए गए किन्तु इसका कोई फायदा नहीं हुआ है. फिरोजपुर झिरका हेल्थ सेंटर के बाहर फल विक्रेता का कहना कि उसने सुना है कि वैक्सीन लगवाने के दो साल बाद मौत हो जाएगी. इन्ही वाहमो की वजह से लोग वैक्सीन को लेकर हिचक रहे हैं.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा में कोरोना से जुडी ताज़ा खबरों के लिए अभी जाए कोरोना केस हरियाणा ताज़ा खबर पर.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *