Chandra Grahan 2022: साल का आखिरी चंद्र ग्रहण आज, ग्रहण के दौरान न करना भूलकर भी ये काम

ज्योतिष, Chandra Grahan 2022 | साल 2022 के आखिरी सूर्य ग्रहण के बाद अब साल का आखिरी चंद्र ग्रहण आज लगने जा रहा है. सूर्य ग्रहण दिवाली के अगले दिन लगा था. वही, चंद्र ग्रहण सूर्य ग्रहण के ठीक 15 दिन बाद देव दिवाली यानि 8 नवंबर को पड़ेगा. इस दिन कार्तिक माह की पूर्णिमा तिथि भी है. हिंदू पंचांग के मुताबिक, कार्तिक माह के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि का देव दिवाली का पर्व मनाया जाता है. ज्योतिष मान्यताओं के मुताबिक, देव दिवाली के दिन चंद्र ग्रहण लगने से इनका महत्व और अधिक बढ़ जाता है.

Chandra Grahan

साल का आखिरी चंद्र ग्रहण

मंगलवार को भारत में 5:32 से दिखाई देना शुरू होगा और शाम 6:18 पर समाप्त हो जाएगा. ऐसे में चंद्र ग्रहण का सूतक काल 9:21 से शुरू होगा और 6:18 पर समाप्त हो जाएगा. साल का यह आखिरी चंद्र ग्रहण मेष राशि में लगेगा.

चंद्र ग्रहण का सूतक काल

शास्त्रीय नियमों के मुताबिक, चंद्रग्रहण 2022 आरंभ होने से 9 घंटे पहले सूतक काल माना जाता है. लेकिन, 8 नवंबर के चंद्र ग्रहण का सूतक सूर्योदय के साथ माना जाएगा. दरअसल, भारत में यह चंद्रग्रहण ग्रस्त उदय रूप में देश के विभिन्न भागों में देखा जाएगा इसलिए इसका सूतक सूर्योदय के समय से ही मान्य होगा. ग्रहण का मोक्ष होने पर शाम 6:19 से सभी धार्मिक कार्य करना शास्त्रों के अनुसार सही रहेगा. कार्तिक पूर्णिमा पर चंद्र ग्रहण लगने से स्नान दान का महत्व कई गुना बढ़ गया है.

ट्रेंडिंग-  दिसंबर महीने में इन सात राशि वालों की चमकेगी किस्मत, बन रहें सफलता के पूरे योग

भारत में कई जगह दिखेगा पूर्ण ग्रहण

8 नवंबर को लगने जा रहा चंद्र ग्रहण भारत में देखा जा सकेगा. हालाकी, पूर्णिमा ग्रहण पूरे भारत में नहीं दिखेगा. चंद्र ग्रहण भारत में कोलकाता, राची, सिलीगुड़ी, पटना, गुवाहाटी मे दिखाई देगा.

चंद्र ग्रहण के दौरान भूलकर भी नहीं सोना चाहिए

शास्त्र के अनुसार, ऐसा करने से व्यक्ति में रोग और कष्ट बढ़ जाते हैं. ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाओं को घर से बाहर बिल्कुल नहीं निकलना चाहिए. इसके अलावा, जब ग्रहण चल रहा हो उस समय किसी भी नुकीली और धारदार चीज का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए. साथ ही, मंदिर के गेट तक बंद कर दिए जाते हैं. लेकिन आप अपने मन में अपने इष्ट देव का उपासना में कर सकते हैं. चंद्र ग्रहण के बाद स्नान और दान का विशेष महत्व होता है. चंद्र ग्रहण के बाद पानी में थोड़ा गंगाजल मिलाकर स्नान करें और इसके बाद दान करें दान करना बहुत शुभ माना जाता है

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा से जुडी ताज़ा खबरों के लिए अभी जाए Haryana News पर.