Chandra Grahan 2022: साल का आखिरी चंद्र ग्रहण 8 नवंबर को, सूतक काल में इन नियमों का रखें ध्यान

ज्योतिष, Chandra Grahan 2022 | हिन्दू कैलेंडर के अनुसार साल 2022 का दूसरा और आखिरी चंद्र ग्रहण 8 नवंबर (Chandra Grahan 2022 Date) को लगने जा रहा है. जानकारी के लिए बता दें की चंद्र ग्रहण हमेशा पूर्णिमा के दिन ही लगता है. चंद्र ग्रहण को ज्योतिष शास्त्र में एक महत्वपूर्ण खगोलीय घटना के रूप में गिना जाता है. ऐसा इसलिए है क्योंकि ग्रहण के दौरान सभी राशियां प्रभावित होती हैं.

ट्रेंडिंग-  दिसंबर महीने में इन सात राशि वालों की चमकेगी किस्मत, बन रहें सफलता के पूरे योग

Chandra Grahan

ग्रहण से पहले सूतक काल शुरू

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार पूर्णिमा के दिन चंद्र ग्रहण लगने से शुभ फल प्राप्त होते हैं. लेकिन, सूतक काल ग्रहण से पहले और उसके दौरान शुरू होता है जिसमें कई गतिविधियों पर रोक लगा दी गई है. शास्त्रों में सूतक काल के संदर्भ में कई नियम बताए गए हैं, जिनका पालन करने से व्यक्ति ग्रहण के दुष्प्रभाव से खुद को बचा सकता है.

सूतक काल में करें इन नियमों का पालन

  • सूतक काल में गर्भवती महिलाओं को विशेष ध्यान रखना चाहिए. इस दौरान घर से बाहर न निकलें.
  • सूतक काल में नुकीली चीजों को छूना मना है. इस दौरान कैंची, चाकू, सुई को न छुएं.
  • सूतक काल में सोना भी वर्जित माना जाता है इसलिए इस दौरान जागते रहें और भगवान के नाम का जाप करते रहें.
  • सूतक काल में कई बातों का ध्यान रखना पड़ता है. बता दें कि सूतक काल में खाना बनाने और खाने पर पाबंदी है. लेकिन, यह नियम वृद्ध, बीमार और गर्भवती महिलाओं पर लागू नहीं होता है.
ट्रेंडिंग-  दिसंबर महीने में इन सात राशि वालों की चमकेगी किस्मत, बन रहें सफलता के पूरे योग

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा से जुडी ताज़ा खबरों के लिए अभी जाए Haryana News पर.