किसान आंदोलन में बर्बरता: ग्रामीण को पहले शराब पिलाई, फिर शहीद का नाम देकर जिंदा जला दिया

जींद | जींद के एक आंदोलनकारी पर तेल छिड़ककर आग लगाने का आरोप है. इस दौरान घटनास्थल पर आरोपी का एक वीडियो भी सामने आया है. ऐसे में हम आपको मुख्य रूप से जानकारी दें दे कि आंदोलन में शहीद होने का नाम देकर कसार के रहने वाले मुकेश पर तेल छिड़का गया और फिर उसे आग लगा दी गई. इस बीच पहले उसे शराब भी पिलाई गई है.

15 06 2021 ambala murder 21739108

मृतक के भाई ने किसान के खिलाफ़ करवाया मामला दर्ज

ऐसे में मृतक के भाई के बयान पर पुलिस ने मामला दर्ज करने के बाद तेज़ी से कार्रवाई शुरू कर दी है. फिलहाल, हत्यारोपी अभी फरार है. ऐसे में पुलिस की तरफ़ से दावा किया गया है कि आरोपी को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा. हत्या की वजह अभी भी स्पष्ट नहीं हुई है.

पुलिस को दी गई शिकायत में गांव कसार के रहने वाले मदन लाल पुत्र जगदीश ने बताया है कि उसका भाई मुकेश बीते दिन शाम को घर से घूमने के लिए निकला था और गांव के साथ ही बैठे किसान आन्दोलनकारियों के पास पहुंच गया. इसके बाद उन्हें फोन से पता चला कि आपके भाई पर आन्दोलनकारियों ने जान से मारने की नीयत से तेल छिड़ककर आग लगा दी है. वह उसी समय अपने गांव के पूर्व सरपंच टोनी को लेकर मौके पर पहुंचा तो देखा भाई मुकेश गंभीर रूप से झुलसा हुआ था. उसे मौके पर ही सिविल अस्पताल लेकर गए.

वहां पर उपचार के दौरान मुकेश ने बताया कि आंदोलन में एक व्यक्ति ने जिसका नाम कृष्ण है और सफेद कपड़े पहने हुए था, पहले उसे शराब पिलाई और फिर उसे आग लगा दी. यही कारण है कि वह बुरी तरह झुलस गया. सिविल अस्पताल में गंभीर रूप से झुलसे मुकेश को चिकित्सकों ने रेफर कर दिया, किन्तु परिजन उसे ब्रह्मशक्ति संजीवनी अस्पताल लेकर गए जहां उपचार के दौरान रात को ही उसकी मौत हो गई.

इस मामले में डीएसपी पवन कुमार ने विस्तार पूर्वक जानकारी देते हुए बताया कि इस मामले में पहले संदीप और कृष्ण के खिलाफ जान से मारने के प्रयास का मामला दर्ज किया गया था किंतु, मौत होने के बाद हत्या की धारा भी जोड़ दी गई है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा में कोरोना से जुडी ताज़ा खबरों के लिए अभी जाए कोरोना केस हरियाणा ताज़ा खबर पर.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *