Breaking News: हरियाणा में ट्यूबवेल कनेक्शन का इंतजार कर रहे किसानों का इंतजार अब वर्ष 2021 में होगा ख़तम जानें, पूरी ख़बर

जींद | बीते दो वर्षों से ट्यूबवेल कनेक्शन के लिए इंतजार कर रहे हजारों किसानों के लिए यह ख़बर बेहद ही फायदेमंद साबित हो सकती है. ऐसा इसलिए क्योंकि अब उन सभी किसानों का इंतजार ख़तम होने जा रहा है और अब बिजली निगम ने दिसंबर 2018 तक आवेदन करने वाले उन सभी किसानों का डाटा मांगा है.

ट्यूबवेल

  • बिजली निगम www.dhbvn.com ने दिसंबर 2018 तक आवेदन करने वाले उन सभी किसानों का डाटा मांगा है.
  • ऐसा इसलिए क्योंकि, पोर्टल दिसंबर माह 2019 में ही बंद कर दिया गया था.
  • बीते दिनों 50 से अधिक ट्यूबवेलों से जींद के पेयजल की सप्लाई हो रही थी. इस बारे में अधिक जानकारी आप सांझा किए गए लिंक https://www.haryananews.co/jind/big-breaking-now-bhakra-canal-will-fulfill-the-requirements-of-jind द्वारा प्राप्त कर सकते हैं.

जिन्होंने कनेक्शन लेने की सहमति के तौर पर लगभग 30 हजार रुपये पहले ही जमा करा दिए थे. किन्तु, किन्हीं मुख्य निजी कारणों के चलते मोटर पंप व कनेक्शन की बाकी राशि जमा नहीं करा पाए थे, उसे जमा करवाने में असमर्थ रहे थे. यहां हम आपको विशेष रूप से जानकारी दें दे कि अकेले जींद जिले में ऐसे कुल चार हजार से भी ज्यादा किसान हैं.

water well tube well 250x250 1

दिसंबर 2019 में बन्द किया गया था पोर्टल 

  1. मोटर पंप के पैसे जमा कराने के लिए खोला गया पोर्टल दिसंबर माह 2019 में ही बंद कर दिया गया था. जिसके बाद दोबारा अब तक यह पोर्टल नहीं खोला गया था. यही मुख्य कारण था कि पोर्टल ना खुलने की वजह से ट्यूबवेल कनेक्शन की प्रक्रिया आगे नहीं बढ़ पाई हैं.
  2. Farmers irrigating high beds with watering cans with water spreading roses at the Q640
  3. दिसंबर 2019 तक जिले के लगभग 1311 किसानों ने मोटर पंप के पैसे पोर्टल पर ऑनलाइन माध्यम से भरे थे. उन सभी किसानों के कनेक्शनों के एस्टीमेट बना कर बाकी राशि जमा करा ली गई थी और कनेक्शन जारी भी कर दिए गए.

Tubewell connection

किसानों को बचे कनेक्शन फसल कटाई के बाद मिलेंगे

बिजली निगम जींद सर्कल एसई श्यामबीर सैनी ने विस्तार पूर्वक इस मामले में बातचीत करते हुए बताया कि मुख्यालय की ओर से दिसंबर 2018 तक ट्यूबवेल कनेक्शन के लिए आए आवेदनों की डिटेल मांगी है. इसके अलावा मोटर पंप के पैसे जमा कराए जाएंगे या फिर सीधे किसानों को मोटर खरीदने की अनुमति दी जा सकती है.

इस मामले में अन्तिम निर्णय मुख्यालय की तरफ से किया जा सकता है. ऐसे में अब जिन्होंने मोटर पंप और बाकी राशि भर थी, उनके कनेक्शन जारी किए जा रहे हैं. कुछ कनेक्शन जो बचे हैं, उन्हें अब खेत में फसल कटाई के बाद किया जाएगा.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा में कोरोना से जुडी ताज़ा खबरों के लिए अभी जाए कोरोना केस हरियाणा ताज़ा खबर पर.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *