हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज बोले- रोहिंग्या मुसलमान को चिन्हित कर निकाला जाएगा प्रदेश के बाहर

चंडीगढ़ | राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के नज़दीक मेवात (नूंह) में रोहिंग्या मुसलमानों की तादाद में लगातार इजाफा होता नजर आ रहा है. ऐसे में अब इस मामले को लेकर प्रदेश सरकार चौक्कनी हो गई है. बता दें कि इलाक़े मे लगातार रोहिंग्या मुसलमानों के आकर बसने की जानकारी पर संज्ञान लेते हुए हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने स्पष्ट रूप से अपना बयान देते हुए कहा है कि इस मामले मे जानकारी जुटाई जा रही है.

रोहिंग्या मुसलमान

साथ ही साथ में इसके बाद यथोचित कार्रवाई की जा सकती है. ऐसे में उन्होंने दो टूक कहा है कि निश्चित तौर पर भारत कोई धर्मशाला तो नहीं है कि जिस किसी का दिल करे और वह यहां पर आकर बस जाए और हमेशा के लिए ठहरने लग जाए.

92650185 capture

यहां पर हम आपको खास तौर पर जानकारी दे दें कि सरकारी आंकड़ों पर गहनता से विचार विमर्श करने के बाद पता चलता है कि प्रदेश में इस समय पर लगभग 700 परिवार रोहिंग्या मुसलमानों के हैं.

chandigarh 1615524614

केवल नूंह जिले में ही दो हजार से ज्यादा रोहिंग्या मुसलमान रह रहे हैं. हालांकि, विश्व हिंदू परिषद का दावा है कि पूरे प्रदेश में इनकी तादाद लाखों में हैं. किन्तु, सबसे अधिक रोहिंग्या मुसलमान मेवात (नूंह), गुरुग्राम, फरीदाबाद, पलवल और यमुनानगर जिलों में रहते हैं. यह लोग आधार कार्ड, राशन कार्ड और वोटर कार्ड भी बनवा चुके है, ऐसे में यह लोग आंतरिक सुरक्षा के लिए खतरा हैं.

21 09 2017 rohingya main history

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा में कोरोना से जुडी ताज़ा खबरों के लिए अभी जाए कोरोना केस हरियाणा ताज़ा खबर पर.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *