हरियाणा ओपन बोर्ड, दसवीं कक्षा वाले बच्चों को 33 फ़ीसद अंको से पास करेंगे

शिक्षा जगत | ओपन विद्यालय शिक्षा बोर्ड 10वीं के फ्रैश छात्रों को न्यूनतम अंक प्रदान कर प्रमोट कर सकता है. इसके आधार पर कक्षा 12 वीं की परीक्षा परिणाम तैयार किया जा सकता है. परिणाम से संतुष्ट न होने वाले छात्र 16 अगस्त से 15 सितंबर के बीच अनुकूल हालात होने पर परीक्षा दे सकते हैं. ऐसे में कहा जा रहा है कि 10 वीं कक्षा के सभी फ्रेशर परीक्षार्थियों को न्यूनतम 33% अंक प्रदान कर प्रमोट किया जा रहा है.

हरियाणा

इसी कक्षा में (एसटीसी) सब्जेक्ट टू क्लियर व (सीटीपी) क्रेडिट ट्रांसफर पॉलिसी के तहत यह फार्मूला लागू नहीं होगा. यदि इसमें किसी बच्चे के हिंदी में 50 व विज्ञान में 40 अंक है और अंग्रेजी में फेल है तो उसे दोनों विषयों में प्राप्त अंकों का औसत बनता है 45, इस प्रकार उस छात्र के अंग्रेजी में 45 अंक प्रदान किए जाएंगे. छात्र एक से ज्यादा विषयों में सीटीपी व एसटीसी है तो उसके उक्त विषयों में न्यूनतम 33 प्रतिशत अंक दिए जाएंगे.

यहां पर हम आपको मुख्य रूप से जानकारी दें दे कि 12वीं का रिज़ल्ट 10वीं की परीक्षा में प्राप्त अंकों के आधार पर तैयार किया जा सकता है. ऐसे में अगर किसी परीक्षार्थी के सेकंडरी के बेस्ट फाइव विषयों के अंकों का जोड़कर जो प्रतिशत आएगी. उसको आधार मानकर 5 विषयों के अंक दिए जाएंगे.

इस दौरान बोर्ड चेयरमैन डॉ. जगबीर सिंह ने जानकारी सांझा करते हुए कहा है कि हरियाणा ओपन सेकंडरी का परिणाम 7 जुलाई तक और सीनियर सेकंडरी का 25 जुलाई तक परिणाम जारी कर दिया जाएगा. बता दें कि हरियाणा ओपन सेकंडरी में 20 हजार व सीनियर सेकंडरी में कुल 28 हजार परीक्षार्थी हैं.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा में कोरोना से जुडी ताज़ा खबरों के लिए अभी जाए कोरोना केस हरियाणा ताज़ा खबर पर.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *