हरियाणा में छात्रों के लिए खुशखबरी, सरकारी स्कूलों के छात्र कर सकेंगे JEE और NEET की तैयारी

पंचकूला | हरियाणा के छात्रों के लिए एक अच्छी खबर सामने आ रही है. प्रदेश सरकार ने सरकारी स्कूली छात्रों के लिए एक नई योजना संचालित करने का फैसला लिया है. जिसके अंतर्गत अब प्रदेश के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले स्टूडेंट्स को नौवीं कक्षा से प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कराई जाएगी. ऐसे में जो छात्र प्रतियोगी परीक्षाओ की तैयारी करना चाहते है उनके लिए यह एक सुनहरा अवसर होगा.

Haryana School Students

बता दें हरियाणा की मनोहर सरकार और शिक्षा विभाग ने मिलकर बुनियाद नामक कार्यक्रम तैयार किया है, जिसके तहत राज्य के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को JEE और NEET जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कराई जाएगी. इस योजना को शिक्षा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव महावीर सिंह द्वारा 30 जून को लांच किया जायेगा. योजना की लॉन्चिंग से पहले शिक्षा विभाग की डायरेक्टर अमृता सिंह ने 51 सरकारी स्कूलों (बुनियाद सेंटर) के प्रिंसिपलों के साथ एक बैठक आयोजित की. जिसमे बताया गया ये योजना दो चरणों में आयोजित की जाएगी.

इन परीक्षाओ की तैयारी का मिलेगा मौका

वही इस योजना के लागू होने से नौवीं कक्षा से ही स्टूडेंस्ट्स को छात्रों को ‘राष्ट्रीय प्रतिभा खोज’ परीक्षा और ‘किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना’ जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी का मौका मिल सकेगा. दो चरणों में संपन्न होने वाली इस परीक्षा के पहले चरण में हरियाणा के हर जिले से करीब 200 बच्चों को शुरुआत में ऑनलाइन कोचिंग दी जाएगी. इसके साथ ही कोचिंग लेने वाले सभी स्टूडेंस्ट्स को शिक्षा विभाग की ओर से टेबलेट, किताबें, बैग और आने-जाने की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी.

ट्रेंडिंग-  हरियाणा सरकार ने जन्माष्टमी छुट्टी की तारीख में किया बदलाव, अब इस दिन रहेगा सार्वजनिक अवकाश

इसके अलावा जो स्टूडेंट्स पहले चरण की कोचिंग में मेरिट में आएंगे उनमे से कुछ स्टूडेंट्स को दूसरे चरण में राष्ट्रीय प्रतिभा खोज परीक्षा की तैयारी कराई जाएगी. जबकि बाकि बचे छात्रों को संयुक्त प्रवेश परीक्षा (JEE) और राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (NEET) की तैयारी कराई जाएगी.

इस दिन से शुरू होंगे आवेदन

इस योजना की कोचिंग के लिए स्टूडेंट्स 3 से 18 जुलाई तक आवेदन कर सकते है. पहले चरण में कुल तीन हजार बच्चे शामिल होंगे. जिनके लिए सभी जिलों के मिलाकर कुल 51 सेंटर होंगे, जहां वो छात्र कोचिंग ले सकेंगे. परीक्षा में दी गई परफॉर्मेंस के आधार पर इनका चयन होगा. यह बच्चे सेंटर और टेबलेट दोनों तरिके से आनलाइन और ऑफलाइन कोचिंग लेंगे. रेवाड़ी कोचिंग का मुख्य केंद्र रहेगा.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा से जुडी ताज़ा खबरों के लिए अभी जाए Haryana News पर.