हरियाणा में रोडवेज को हुए घाटे की भरपाई करेगी सरकार, दो साल में 2100 करोड़ का हुआ है घाटा

चण्डीगढ़ | हरियाणा की मनोहर लाल सरकार ने रोडवेज को हाल ही में एक बड़ी राहत देने की घोषणा की है. कोरोना की वजह से बीते दो साल में हुए घाटे की भरपाई सरकारी कोष से अब सरकार कर रही है. कहा जा रहा है कि कोरोना की दोनों लहर में रोडवेज को लगभग 2100 करोड़ से ज्यादा की वित्तीय चपत लगी है. बीते वर्ष लगभग 1100 करोड़ का घाटा हुआ था तो इस बार कोरोना की वजह से अब तक एक हजार करोड़ से ज्यादा की वित्तीय हानि हो चुकी है.

 

सूत्रों के मुताबिक़ कहा जा रहा है कि परिवहन मंत्री मूल चंद शर्मा बीते दिनों मुख्यमंत्री मनोहर लाल से मिले थे. इस दौरान उन्होंने रोडवेज की वित्तीय स्थिति के बारे में मुख्यमंत्री को अवगत कराया था, जिस पर उन्होंने कोरोना के दौरान दो वर्ष में हुए घाटे को सरकारी कोष से पूरा करने की हामी भर दी है.

बीते दिन यानी 29 जून को चंडीगढ़ में हुई हाई पावर परचेज कमेटी की बैठक में ई-टिकटिंग प्रोजेक्ट का एजेंडा आया था, लेकिन प्रोजेक्ट के मसौदे पर कुछ सवाल खड़े होने की वजह से मंजूरी नहीं दी जा सकी. दोबारा जल्दी होने वाली हाई पावर परचेज कमेटी की बैठक में इसे लाकर स्वीकृति दिलाई जाएगी.

परिवहन मंत्री ने विभाग के अधिकारियों को ई-टिकटिंग प्रोजेक्ट के प्रस्ताव की त्रुटियों को दूर करने के निर्देश दे दिए हैं. इस मामले में मूल चंद शर्मा ने कहा है कि कोरोना ने आर्थिक तौर पर रोडवेज की भी कमर तोड़ी है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा में कोरोना से जुडी ताज़ा खबरों के लिए अभी जाए कोरोना केस हरियाणा ताज़ा खबर पर.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *