हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला बोले, कृषि कानून ठीक, आंदोलन के नाम पर हो रही राजनीति

चंडीगढ़ | मुख्यमंत्री मनोहर लाल और गृह मंत्री अनिल विज के तल्ख तेवरों के बाद अब डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला भी किसान जत्थेबंदियों के आंदोलन पर भड़के हुए से तेवर दिखाए है. ऐसे में दुष्यंत चौटाला ने इस आंदोलन की जरूरत और वैधता पर सवाल उठाए हैं. साथ ही साथ में दुष्यंत ने यह भी कहा है कि अब यह किसान आंदोलन केवल किसानों की मांग का नहीं रहा, अपितु पूरी तरह से राजनीतिक शक्ल का अख्तियार कर चुका है.

दुष्यंत चौटाला

किसानों को इस आंदोलन में मोहरा बनाया जा रहा है. दुष्यंत चौटाला ने कहा कि आंदोलनकारियों को किसानों से कोई मतलब नहीं है. उनका सिर्फ एक ही लक्ष्य है और वह भाजपा-जजपा गठबंधन के नेताओं का विरोध करना है. दो अलग-अल विभागीय बैठकों के बाद मीडिया कर्मियों के सवालों का जवाब देते हुए दुष्यंत चौटाला ने कहा कि मैं भी किसान हूं. तीन कृषि कानूनों में कुछ भी ऐसा नहीं है, जिसका विरोध किया जाए.

केंद्र सरकार संबंधित जत्थेबंदियों से बार-बार अहम बात कर रही थी, किन्तु उनकी मंशा बातचीत कर समस्या का समाधान निकालने की नहीं, अपितु माहौल को बिगाड़ने और गठबंधन की सरकार का राजनीतिक विरोध करने की थी और उनकी यह मंशा अभी भी बनी हुई है. दुष्यंत चौटाला ने कहा कि इस पूरे आंदोलन को राजनीतिक लोग चला रहे हैं. ऐसे में काफ़ी संख्या में लोग परदे के पीछे रहकर इन आंदोलनकारियों को समर्थन दे रहे हैं.

दुष्यंत चौटाला ने कहा कि इस दौरान सिर्फ़ और सिर्फ़ राजनीति के लिए बीजेपी-जेजेपी का विरोध किया जा रहा है. उन्होंने तल्ख अंदाज में कहा कि अगर कोई किसान संगठन आंदोलन के नाम पर कानून तोड़ेगा तो वह किसी भी स्थिति में नहीं बख्शा जाएगा.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा में कोरोना से जुडी ताज़ा खबरों के लिए अभी जाए कोरोना केस हरियाणा ताज़ा खबर पर.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *