CBSE : 12वीं की परीक्षा रद्द के आदेशों के बाद अब रिजल्ट पैटर्न के लिए क्राइटेरिया होगा तय, स्कूलों को इसका इंतजार

नई दिल्ली | CBSE की परीक्षा को लेकर बच्चों के मन में बीते छह महीने से यह सवाल था कि इस बार 12 वीं की परीक्षा का आयोजन होगा या फिर नही. ऐसे में प्रधानमंत्री मोदी ने बीते दिन यानी मंगलवार को CBSE बारहवीं परीक्षा कैंसिल करने का फैसला लेकर छात्रों और अभिभावकों का एक संशय पुरी तरह से खत्म कर दिया है.

Cbse

CBSE

ऐसे में कुछ लोगों का कहना है कि केवल पासिंग सर्टिफिकेट दे दिया जाएगा. इस मामले में अब जिले के
CBSE बोर्ड के तमाम स्कूल बच्चों को पास करने के मूल्यांकन के लिए मानदंड आने का इंतजार कर रहे हैं, ताकि उस आधार पर उनको पास किया जाए. फिलहाल अभी स्कूल संचालकों व प्राचार्यों की तरफ़ से जो बात सामने आ रही है उसमें 12 वीं के रिजल्ट के लिए वही पैटर्न रहेगा जिस आधार पर बोर्ड दसवीं कक्षा का रिजल्ट तैयार कर रहा है.

जिले के सीबीएसई स्कूलों के प्राचार्यों का कहना है कि जिस प्रकार से सीबीएसई दसवीं के लिए रिजल्ट तैयार करने के लिए ऑब्जेक्टिव क्राइटेरिया तैयार किया है. इसी आधार पर बारहवीं के लिए भी क्राइटेरिया तय होगा. कक्षा दसवीं की तरह इस बार भी अगर छात्र अपने अंको से संतुष्ट नहीं होता है, तो वह 12 वीं बोर्ड की परीक्षा दे सकते हैं.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा में कोरोना से जुडी ताज़ा खबरों के लिए अभी जाए कोरोना केस हरियाणा ताज़ा खबर पर.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *