कपास खेती को लेकर हरियाणा सरकार का बड़ा फैसला, 3 हजार प्रति एकड़ देने का फैसला

चंडीगढ़ | हरियाणा सरकार ने हाल ही में कपास की खेती को लेकर एक बड़ा फैसला लिया है. इस योजना के तहत हरियाणा सरकार प्रत‍ि एकड़ 3 हजार रुपये की वि‍त्‍तीय मदद देगी. इस योजना को शुरू करने का फैसला राज्य में देशी कपास की बुआई को बढ़ावा देना है.

कपास

बता दें हरियाणा सरकार ने इस स्कीम के तहत देसी कपास वाले किसानों की मदद का फैसला किया है. वही कपास की बुआई से पहले किसानों को इस योजना में रेजिस्ट्रेशन कराना होगा. जिसके लिए जारी आधिकारिक वेबसाइट पर आवेदन करना होगा.

कपास खेती को लेकर फैसला

जानकारी के लिए बात दें पास हरियाणा की प्रमुख फसल है. यह फसल इस राज्य के लोगों की कमाई वाली फसल कही जाती है. हरियाणा के किसान इस फसल की खेती के लिए काफी मेहनत करते है. वहां की कमजोर और नमकीन भूमि में भी किसान इसकी अच्छी खेती कर लेते है. लागत की बात की जाय तो धान की तुलना में इसकी लागत कम लगती है. जबकि बाजार में यह धान से महंगी बिकती है. जिसके चलते किसान इसकी खेती अधिक करते है. लेकिन कई सालों से कपास की फसल पर गुलाबी सुंडी लगने से फसल खराब हो रही है. हरियाणा में किसान कपास की खेती के लिए 3 तरह के बीजों का प्रयोग कर रहे है. जिसमें नरमा, बीटी कॉटन, और देसी कपास शामिल है.

ऐसे करें रेजिस्ट्रेशन

कपास की खेती से पहले इसके लिए आवेदन करना होता है. क‍िसानों को ‘मेरी फसल मेरा ब्‍यौरा’ पोर्टल http://agriharyana.gov.in/ पर रज‍िस्‍ट्रेशन कराना होगा. इसके लिए आवेदन 25 जनवरी से शुरू होंगे और इसकी आखिरी तारीख 31 मई है. रजिस्ट्रेशन के बाद किसानों को फिजिकल रूप से सत्यापन कराना होगा. जिसके बाद किसानों को मदद राशि उपलब्ध कराई जायेगी. जानकारी के मुताबिक, कपास के सभी बीजों की ब‍िजाई 15 अप्रैल से शुरू हो जाती है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा से जुडी ताज़ा खबरों के लिए अभी जाए Haryana News पर.